सेक्सटॉर्शन शिकार से युवती ने मांगी लाखों की रकम सीतापुर के युवक ने की आत्महत्या

रिपोर्ट- जयप्रकाश रावत संदेश महल समाचार

उत्तर प्रदेश के जनपद सीतापुर में इन दिनों हनीट्रैप साइबर अपराधियों का गैंग सक्रिय हैं, जिसको लेकर संदेश महल समाचार लगातार घटनाओं को लेकर सजगता से खबरें प्रकाशित कर रहा। किन्तु अधिकारियों के कानों पर जूं तक नहीं रेंगी आखिर वही हुआ जिसका डर था। युवक को अपनी जान देकर हकीकत को सावित करना पड़ा। यदि अधिकारी साइबर अपराधियों पर सिंकंजा समय रहते नहीं कसा तो वह दिन दूर नहीं है किसी और के शिकार होने का।
पीयूष चौरसिया तो सीतापुर की बानगी है। और न जाने कितने लोग इस गैंग के शिकार हैं।
साइबर क्राइम प्रभारी अजय रावत का कहना है कि मामले की जानकारी मिली है। परिजनों की ओर से तहरीर मिलने के बाद कार्रवाई की जाएगी।

गौरतलब हो कि हनीट्रैप का शिकार 12 वीं छात्र ने बदनामी के डर से आत्महत्या कर जीवन लीला समाप्त कर लिया।वीडियो वायरल करने की धमकी देकर 3.50 लाख रुपए की युवती मांग कर रही थी।छात्र ने कीड़े मारने की दवा खा ली। परिजन जिला अस्पताल ले गए। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।
बताते चलें कि मामला थाना मानपुर क्षेत्र के ग्राम इटदहा का है। 17 साल का पीयूष चौरसिया बिसवां के सेठ जयदयाल इंटर कॉलेज में 12वीं में पढ़ता था। उसके माता-पिता की हादसे में मौत हो चुकी है। वह अपनी मौसी के साथ रहता था। छात्र के चाचा कुलदीप के अनुसार पीयूष परेशान था। वह एक लड़की से फोन पर बातचीत करता था। इस दौरान लड़की ने उसका अश्लील वीडियो बना लिया। वीडियो वायरल करने की धमकी दे रही थी। उसने वीडियो का स्क्रीनशॉट भी भेजा। लड़की ने 3.50 लाख रुपए मांगे थे। एक लड़का भी फोन कर धमकी दे रहा था। उसने कहा था कि 2100 रुपए तुरंत भेजा नहीं तो वीडियो वायरल कर दूंगा। पीषुष रोज की तरह स्कूल गया। फोन पर बात हुई तो उसने कहा कि वह कोचिंग पढ़कर आएगा। कोचिंग से लौटते हुए उसने गांव के बाहर दुकान से कीड़े मारने की दवा खरीदी। इसके बाद उसे खा लिया। घर पहुंचने पर उसकी हालत बिगड़ गई। तब उसने जहर खाने की बात बताई। परिजन उसे लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।