जेवरातों के लालच में कारगिल शहीद की पुत्रवधू ने घर में कराई लाखों की लूट

रिपोर्ट/- प्रवीन कुमार आगरा संदेश महल समाचार पत्र

25 जुलाई को कारगिल शहीद श्यामवीर सिंह की कोठी में लाखों की लूट की घटना घटित हुई उस समय शहीद की पत्नी गीता देवी बेटे विजय सिंह के साथ गांव गई थीं। घर में पुत्रवधू शकुंतला और नाती मौजूद थे। शकुंतला ने परिजनों को फोन करके घर में दो बदमाशों के घुसने की जानकारी दी थी। बताया कि बेटे की गर्दन पर चाकू रखकर 40 ताले सोने, ढाई किलोग्राम चांदी के जेवरात और नकदी लूट हो गई है। साथ ही बताया कि हाथ-पैर बांधने को बताया।पुलिस ने घटना को संज्ञान में लेते हुए पड़ताल शुरू की और सीसीटीवी फुटेज की मदद से घटना का खुलासा किया जिसमें दो आरोपी फरीदाबाद निवासी सत्येंद्र उर्फ सोनू और दिल्ली के बदरपुर निवासी विपिन को जेल भेजा था।
गौरतलब हो कि थाना ताजगंज के प्रभारी निरीक्षक भूपेंद्र कुमार बालियान ने बताया कि श्यामवीर सिंह की पुत्रवधू शकुंतला देवी को भी जेल भेजा है। उन्होंने वारदात की साजिश की थी। सत्येंद्र उसका ममेरा भाई है। सास पर सारे जेवरात रहते थे। शकुंतला देवी चाहती थी कि जेवरात उन्हें मिल जाए। आरोप है कि सास से जेवरात नहीं मिलने पर उन्होंने ममेरे भाई से बात की। घटना वाले दिन सत्येंद्र को फोन किया। पहले ही दिन ही उसकी संलिप्तता के बारे में पता चल गया। मगर, साक्ष्य जुटाने के बाद कार्रवाई की गई।

error: Content is protected !!