पुलिस की पिटाई से आहत जसरथ ने लगाई फांसी शव उठाने को लेकर पुलिस से हुई झड़प

रिपोर्ट/- हिमांशु यादव मैनपुरी संदेश महल समाचार

पुलिस की पिटाई से क्षुब्ध युवक ने फांसी लगाकर आत्म हत्या कर जान दे दी।पुलिस शव लेने गांव पहुंची, तो परिजनों ने शव नहीं उठाने दिया। इस दौरान पुलिस व परिजनों के बीच झड़प भी हुई। एसपी द्वारा कार्रवाई का आश्वासन मिलने के बाद राजी परिजनो ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।
मैनपुरी के भोगांव के गांव रकरी निवासी 45 वर्षीय जसरथ सिंह का सोमवार को भाई ब्रजेश से पानी को लेकर विवाद हो गया था। दोनों के बीच झगड़े की सूचना पर पहुंची रकरी चौकी पुलिस दोनों को पकड़ कर थाने ले गई। मृतक की बहन रंगोली का आरोप है कि वहां पुलिसकर्मियों ने दोनों भाइयों की पिटाई की। इसके बाद थाना ले जाकर भी पीटा। कुछ देर बाद दो हजार रुपये की मांग की गई। मांग पूरी ना होने पर दोनों का शांतिभंग में चालान कर दिया। शाम को जमानत होने के बाद जसरथ जब घर आया तो एक सिपाही पुष्पेंद्र ने उसे फोन कर धमकाया और चौकी पर आने के लिए कहा। जसरथ जब चौकी पर पहुंचा तो उसे फिर से पीटा गया। घर आने के बाद जसरथ ने कहा की उसकी आज तक इतनी बेइज्जती किसी ने नहीं की। मारपीट से क्षुब्ध होकर देर रात फांसी लगाकर जान दे दी।
जानकारी होने के बाद घर में कोहराम मच गया। पुलिस शव लेने गांव पहुंची तो परिजनों ने शव नहीं उठाने दिया। इस दौरान पुलिस व परिजनों के बीच झड़प भी हुई। करीब 1 घंटे बाद शव को उठाने को लेकर हंगामा चलता रहा। इस दौरान कई थाना की पुलिस मौके पर पहुंच गई। एसपी कमलेश दीक्षित द्वारा कार्रवाई का आश्वासन मिलने के बाद परिजन मान गए और पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेजने के लिए राजी हुए।