रेलवे वर्क आर्डर की आड़ में मिट्टी बेच रहे ठेकेदार एनओसी नहीं जबरिया कारोबार

रिपोर्ट/- जेपी रावत बाराबंकी संदेश महल समाचार

मिट्टी ठेकेदारों के नए नए पैंतरे आए दिन सामने आते रहते हैं। किंतु कुछ ऐसे पैंतरे भी होते हैं जो आम आवाम की समझ से परे होते हैं। यदि किसी ने जानकारी भी चाही तो कुछ भी बोलने से पहले एक ही ज़बाब निकलता है,यह काम नंबर वन का है। परमीशन से मिट्टी खुदाई कर रहे हैं।
किंतु वास्तविकता इससे कोसों दूर हैं। गौरतलब हो कि जनपद बाराबंकी के थाना मोहम्मद पुर खाला वा थाना रामनगर का सीमावर्ती गांव गगौरा व नंदऊपारा के बीच हो रहें मिट्टी खनन के ठेकेदारों में बदनाम चेहरे फिर से सक्रिय हो गए हैं। बताया जा रहा है कि रेलवे वर्क आर्डर के पास पर मिट्टी खनन किया जा रहा है। सच यह है कि इन ठेकेदारों का एक गिरोह भी साथ में काम करता है। मौका ए स्थल से डंपर हो या फिर टैक्टर ट्राली मिट्टी भरने के बाद बीच रास्ते से ही बिकने वाले स्थानों पर पहुंच जाती है। जिसका नजारा सुबह से लेकर शाम तक देखा जा सकता है। थाना मोहम्मदपुर खाला और रामनगर क्षेत्र के सीमावर्ती गांव इन दिनों खनन का खेल खेलने वाले चालाक ठेकेदारों के निशाने पर हैं।

एनओसी नहीं,जबरिया कारोबार

खनन के लिए सरकारी अनुमति लेने में पसीना छूट जाता है। किंतु स्थानीय प्रशासन की हीला हवाली के चलते यहां पर अंधेर नगरी चौपट राजा वाली कहावत चरितार्थ हो रही है।