आखिर क्यों की जा रही किसानों की अनदेखी -शिव प्रकाश सिंह

रिपोर्ट/-अनुज शुक्ला सीतापुर संदेश महल समाचार

सीतापुर प्रधानमंत्री मा० नरेंद्र मोदी द्वारा किसानों के साथ की जा रही वादाखिलाफी और पूंजीपतियों को दी जा रही असीमित सुविधाएं,इस बात का प्रमाण है कि,आम जनमानस को पूंजी पतियों के पास बंधक बनाकर पुनः उन्हें गुलामी के चंगुल में ढकेलने का काम किया जा रहा है!यह बात किसान मंच राष्ट्रीय सचिव व प्रदेश प्रभारी शिव प्रकाश सिंह ने जारी प्रेस विज्ञप्ति में कही!संयुक्त किसान मोर्चा संयोजक पिंदर सिंह सिद्धू ने कहा लखीमपुर उत्तर प्रदेश में विगत वर्ष किसानों को कुचलने वाले अपराध सिद्ध अपराधी के पिता आज भी केन्द्र सरकार में केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री के पद पर विराजमान होकर कानून के साथ खिलवाड़ करने में व्यस्त हैं,और केन्द्र सरकार द्वारा उन्हें इस महत्वपूर्ण पद से नहीं हटाया गया!यह लोकतंत्र के साथ एक ऐसा मज़ाक है जिसे किसान बर्दाश्त नहीं कर पा रहे और आंदोलन के लिए मजबूर हैं!संगतिन किसान मजदूर संगठन से ऋचा सिंह ने कहा दिल्ली बार्डर तेरह माह के आंदोलन के बाद लाए गए किसान विरोधी तीन कानून के संबंध में लिखित समझौते पर कोई अमल न किया जाना भाजपा की किसान विरोधी नीतियों का प्रमाण है!किसान मंच महिला प्रकोष्ठ अध्यक्ष अल्पना सिंह ने कहा लोकतंत्र की हत्या का हर तरफ से प्रयास कर रही भाजपा को सोचना होगा कि हर तरह से परेशान किसान,मजदूर और बेरोज़गारों के साथ मंहगाई से तृष्त आम जन मानस अब सड़कों पर उतर कर अपनी ज्वलंत समस्याओं के लिए आंदोलन के लिए बाध्य है!सिख संगठन जिला अध्यक्ष गुरुपाल सिंह ने कहा कि केंद्र द्वारा की जा अनदेखी के लिए सड़कों पर संघर्ष ज़रुरी हो गया था,जिसकी शुरुआत लखीमपुर खीरी (उ०प्र०) में कल से संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा राकेश सिंह टिकैत की अगुवाई में की जा चुकी है!