प्रतिबंधित पेड़ों के दुश्मन बने लकड़ी ठेकेदार बेखौफ चला रहे कुल्हाड़ा

रिपोर्ट/- अजय कुमार सिंह बाराबंकी संदेश महल समाचार

प्रतिबंधित हरे पेड़ों की कटान नहीं रुक रही है। हरियाली के दुश्मन रोक के बावजूद पेड़ों पर लगातार आरा चला रहे हैं। पुलिस व वनविभाग की मिलीभगत से प्रतिबंधित हरे पेड़ों को काटा जा रहा है। शिकायत के बाद भी वन व पुलिस विभाग लापरवाह बना है।

रामनगर थाने के अंतर्गत बैलामऊ बाग में पिछले दो दिनों से हरे पेड़ों की कटान जारी है। पुलिस व वन विभाग के रहमोकरम पर ठेकेदार ने गूलर के पेड़ को काट डाला जिसकी सूचना वन विभाग व पुलिस के आलाधिकारियों तक पहुंची। किंतु कारवाई ढाक के तीन पात जैसे सावित हुई।डीएफओ तक जब शिकायत पहुंची तो वह भी अपना पल्ला झाड़ लिए। मातहत कर्मचारियों की बात करें तो सभी को सब कुछ पता है। लेकिन कारवाई कोई नहीं करना चाहते हैं।वन विभाग के एक कर्मचारी से हुई वार्ता के अनुसार प्रतिबंधित पेड़ों की कटाई पर कार्रवाई का आश्वासन दिया गया है। अब देखना यह है कि मौके पर पहुंच कर लकड़ी कब्जे में लेकर वन संरक्षण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया जाता है कि इस कटान को परमीशन के मनगढ़ंत जाल में उलझाकर नौ दो ग्यारह कर दिया जाता है।