सूखे जर्जर पेड़ों से कभी भी घट सकती है अप्रिय घटना

रिपोर्ट –घनश्याम तिवारी
संतकबीरनगर,संदेश महल समाचार

संतकबीरनगर। जनपद संतकबीरनगर के विभिन्न मार्गो पर कई दर्जनों की संख्या में सूखे पेड़ जर्जर हो गए हैं जिसके चलते राहगीरों के ऊपर मौत का खतरा मंडरा रहा है क्षेत्र के लोगों द्वारा बार-बार कहने के बाद भी अधिकारियों की खामोशी लोगों के अंदर आंदोलन की चिंगारी को हवा दे रही है। बताते चलें कि पर्यावरण को सुरक्षित करने के लिए लगभग 4 दशक पूर्व वन विभाग तथा स्थानीय ग्रामीणों की मदद से मार्गो पर सैकड़ों की संख्या में वृक्षारोपण किया गया था ।वर्तमान समय में लगभग दो दर्जन वृक्ष पूरी तरह से सूख गए हैं जिसके चलते राहगीरों को जान जोखिम में डालकर यात्रा करना पड़ रहा है क्षेत्र के निवासी आनंद सिंह महेंद्र सिंह सलाहुद्दीन रामबरन सुरेंदर बलराम रमेश प्रजापति रामाकांत यादव सुरेंदर आदि लोगों ने बताया कि सूखे पेड़ हवा के झोंके में ही सड़क पर गिर सकते हैं और इसके नीचे दबकर राहगीर की मौत भी हो सकती है। सबसे गंभीर बात यह है कि सब कुछ जानने के बाद भी प्रशासन और जिम्मेदार अधिकारी बड़ी घटना का इंतजार कर रहे हैं सूत्रों पर भरोसा करें तो आने वाले समय में अगर इस प्रकार की कोई घटना हुई है तो आक्रोशित भीड़ को संभालना प्रशासन के लिए कड़ी चुनौती से कम नहीं होगा इस बारे में बात करने पर उप जिलाधिकारी धनघटा डाॅ रविन्द्र कुमार ने बताया कि मामले की जानकारी नहीं है अगर कोई लिखित शिकायत करता है तो कार्रवाई की जाएगी।