मिश्रिख सीडीपीओ की अनुशासन हीनता की खुली पोल पट्टी- विरुद्ध विभाग द्वारा कार्रवाई का इंतजार

रिपोर्ट/- जेपी रावत सीतापुर संदेश महल समाचार

सीतापुर मिश्रिख में महिला एवं बाल विकास परियोजना के तहत संचालित राशन योजना को ग्रहण सा लग गया है। यहां पर ऐसा लगता है कि लाभार्थियों के हित के लिए नहीं बल्कि स्वहित के लिए योजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है।यह हम नहीं कह रहे हैं,आए दिन बाल विकास परियोजनाओं की खुलती पोल पटि्टयां जिसका ज्वलंत उदाहरण है।हाल ही में मिश्रिख कार्य क्षेत्र के अंतर्गत पुष्टाहार के हजारों की संख्या में खाली पैकट बरामद हुए।जिसको लेकर यह विभाग समाचार पत्रों की सुर्खियां में छाया रहा। विभाग मामले को गंभीरता से लेते हुए चार सदस्यीय संयुक्त टीम गठित कर जांच के आदेश दिए। खाली पुष्टाहार पैकटों की गुत्थी सुलझी भी नहीं इसी क्षेत्र में खाली चना दाल के पैकटों का एक बड़ा जखीरा देखा गया।यह भी मामला समाचार पत्रों की सुर्खियां बना। विभाग द्वारा सम्बंधित जिम्मेदारो के विरुद्ध कार्रवाई भी नहीं कर सका तब तक एक और मामला सामने आया।
पुष्टाहार हो चना दाल के पैकेट बाजारों में बेचा जाता है यह किसी से भी छुपा नहीं है।आखिर अब जिम्मेदार प्रभारी सी.डी.पी.ओ. की अनुशासन हीनता की पोल पट्टी खुल ही गई।अब देखना यह है कि इनके विरुद्ध आखिर कौन सी होती है कारवाई।

error: Content is protected !!