पंचकुंडीय ऋग्वेद परायण महायज्ञ में विधि विधान से दी गई आहुति

रिपोर्ट
प्रताप सिंह
मथुरा संदेश महल समाचार

पंच यज्ञ समूह के तत्वाधान में चल रहे ऋग्वेद पारायण महायज्ञ के प्रथम दिन गुरुवार को वैदिक मंत्रोच्चार के साथ आहूति दी गई।
मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित ब्रज मंडल साधु समाज के अध्यक्ष प्रेमदास महाराज ने बताया कि भगवान का नाम सुनकर ही मनुष्य को अद्भुत आनंद की प्राप्ति होती है और आत्मबल मिलता है।


उन्होने वैदिक संस्कृति के बारे में विस्तार से बताया।साथ ही हवन करने से घर में सुख शांति एवम् समृद्धि बनी रहने की बात कही।


महायज्ञ के ब्रह्मा आचार्य विवेक उपाध्याय ने बताया कि ऋग्वेद विश्व की प्राचीनतम पुस्तक है। इसका मुख्य विषय ज्ञान है। इस अवसर पर वैश्विक महामारी से शांति एवम् जगत कल्याण की कामना की गई। उन्होने बताया कि यह पंचकुंदीय यज्ञ 27 दिसंबर तक प्रात एवम् साय आयोजित होगा।आहुति देने वालों में कन्हैयालाल गोयल,आर एन भारद्वाज, योगेश धानोतिया,प्रदीप लोहकना,अनिल प्रधान, ममता सक्सेना,प्रवेश उपाध्याय, अनिरुद्ध, दीपक,आदि उपस्थित रहे।

error: Content is protected !!