syair hk
slot gacor hari ini
bewin999

मोटर दुर्घटना क्लेम कोर्ट को न्यायालय परिसर से दूर बनाने का वकीलों ने किया विरोध

रिपोर्ट
प्रताप सिंह
मथुरा संदेश महल समाचार

मोटर दुर्घटना क्लेम ट्रिब्यूनल को जिला न्यायालय परिसर से करीब 2 किलोमीटर दूर एकांत में बनाए जाने के विरोध में क्लेम का काम करने वाले अधिवक्ताओं ने न्यायालय में कार्य नहीं किया है। क्लेम कोर्ट न्यायालय परिसर में बनाए जाने की मांग को लेकर अधिवक्ता हड़ताल पर चले गए हैं। अधिवक्ताओं ने क्लेम कोर्ट कलेक्ट्रेट परिसर व न्यायालय परिसर में बनाए जाने की मांग जिलाधिकारी से की है।
मोटर एक्सीडेंट क्लेम कोर्ट जिला न्यायालय से 2 किलोमीटर दूर फेज ए आम कॉलेज में बनाए जाने के विरोध में गुरुवार को अधिवक्ता न्यायिक कार्य से विरत रहे सभी अधिवक्ताओं ने क्लेम कोर्ट में कार्य करने से इंकार कर दिया है। मोटर एक्सीडेंट क्लेम ट्रिब्यूनल के पीठासीन अधिकारी रणधीर सिंह ने आंदोलनरत अधिवक्ताओं के साथ बैठक कर क्लेम कोर्ट जिला न्यायालय परिसर व कलेक्ट्रेट परिसर में बनाए जाने की मांग को लेकर शासन में वार्ता करने का आश्वासन दिया है। उन्होंने कहा कि अधिवक्ताओं की मांग जायज है। जिसके समाधान के लिए वह शासन स्तर पर भी प्रयास करेंगे। मोटर एक्सीडेंट क्लेम का काम करने वाले अधिवक्ता दीवानी फौजदारी परिवार न्यायालय व एन आई एक्ट से संबंधित केस भी वादकारियो की ओर से जिला न्यायालय में लड़ते है। जिसके कारण उन्हें क्लेम कोर्ट में 2 किलोमीटर दूर जाने में परेशानी होगी और अन्य केसों के कार्य भी प्रभावित होंगे। जिला मुख्यालय से दूर कोर्ट बनाए जाने का विरोध बार एसोसिएशन की ओर से भी लगातार किया जा रहा है। एक प्राइवेट संस्थान में कोर्ट चलाया जाना अधिवक्ताओं को भी रास नहीं आ रहा है। बार एसोसिएशन मथुरा के सचिव सुनील चतुर्वेदी ने जिला जज मथुरा को पत्र लिखकर शीघ्र क्लेम कोर्ट न्यायालय परिसर में बनाए जाने की भी मांग की है।
क्लेम फोरम के सचिव ओमवीर सारस्वत एड. ने बताया है। कि जब तक क्लेम कोर्ट जिला न्यायालय परिसर मथुरा व कलेक्ट्रेट परिसर मथुरा में नहीं बनाई जाएगी तब तक अधिवक्ता क्लेम कोर्ट में कार्य नहीं करेंगे उन्होंने कहा है। कि कलेक्ट्रेट परिसर में लगभग एक दर्जन कोर्ट रूम खाली पड़े है। जिनमें कोई न्यायिक कार्य नहीं हो रहे है। इसके अलावा जिला न्यायालय परिसर में भी ऐसे कई रूम खाली पड़े है। जहां क्लेम कोर्ट चलाई जा सकती है। परंतु जान-बूझकर प्रशासन की ओर से क्लेम कोर्ट गलत स्थान पर खोली गई है। जिसमें बाद कारियो व अधिवक्ताओं को परेशानियों के दौर से गुजरना पड़ रहा है। आन्दोलन के दौरान क्लेम कोर्ट परिसर के बाहर अधिवक्ता न्यायिक कार्य से विरत रहकर शाम तक बैठे रहे। जिसमें मुख्य रुप से सतीश शर्मा बृजेश शर्मा ओमवीर सारस्वत अरविंद गौतम राजेश चतुर्वेदी प्रणब शर्मा रामवीर यादव सर्वेश दीपक अग्रवाल रघुनाथ सिंह राजावत गौरव यादव हाकिम सिंह सिसोदिया नरेंद्र शर्मा सुधीर शर्मा राधेलाल राकेश चौधरी दीनदयाल शिवचरण लाल धर्मवीर सिंह आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।