तीन माह बाद कब्र खोदकर निकाली गई लाश को भेजा गया पोस्टमार्टम

रिपोर्ट
बलराम
लखीमपुर-खीरी संदेश महल समाचार

क्रिकेट खेलते हुए मारपीट के बाद घायल हुए युवक की उपचार के दौरान हुई मौत के मामले में एसडीएम और सीओ की मौजूदगी में पुलिस ने कब्र से शव निकलवाकर पोस्टमार्टम हेतु भेजा है।
बताते चलें कि कोतवाली क्षेत्र के गांव परस बेहड़ निवासी माया देवी ने डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह को प्रार्थना पत्र देकर बताया कि गांव के संदीप,विवेक,नवनीत पुत्र बाबू और शुभम पुत्र धनीराम घर के पास क्रिकेट खेल रहे थे, जिसकी गेंद बार बार घर के अंदर आ रही थी। इसका विरोध किया तो उक्त युवकों ने उसे और बेटे राजकुमार 24 वर्ष को मारा पीटा। जिसकी शिकायत पर पुलिस ने घटना की एनसीआर दर्ज कर ली थी। घटना में घायल बेटे राजकुमार को सीएचसी रमियाबेहड़ में भर्ती कराया था। इलाज के दौरान 6 जुलाई को राजकुमार की मौत हो गई। शव लेकर घर आए और पुलिस से पोस्टमार्टम कराने को कहा लेकिन पुलिस नहीं आई तो बेटे के शव को ग्रामीणों के कहने पर दफना दिया। मामले में पीड़िता माया देवी ने एसपी सहित उच्च अधिकारियों को प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार की लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।
आखिर पीड़िता ने डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह को प्रार्थना पत्र देकर बेटे के शव का पोस्टमार्टम कराने की मांग की। डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने एसडीएम एस सुधाकरन और सीओ अरविंद कुमार वर्मा को शव खोद कर निकालने और पोस्टमार्टम कराने के निर्देश दिए।एसडीएम, सीओ और प्रभारी निरीक्षक डीपी तिवारी परस बेहड़ गांव पहुंचे और शव को कब्र से खुदवा कर निकलवाया और पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। सीओ अरविंद कुमार वर्मा ने बताया कि डीएम के आदेश पर एसडीएम की मौजूदगी में शव को कब्र से निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर अगली कार्रवाई होगी।

เกมยิงปลา slot gacor เกมสล็อต slotonline ยิงปลา