गौसेवा धाम में धूमधाम से मनायी जायेगी गोपाष्टमी

रिपोर्ट
प्रताप सिंह
मथुरा संदेश महल समाचार

सप्तदिवसीय गोपाष्टमी भागवत महोत्सव का हुआ शुभारंभ

प्रसिद्ध कथावाचक देवी चित्रलेखा जी के सानिध्य में कोटवन – करमन बॉर्डर पर स्थित गौसेवा धाम हाँस्पीटल में बीमार गौवंश के सेवार्थ सप्तदिवसीय गोपाष्टमी भागवत महोत्सव का विगत मगंलवार से श्रीगणेश हुआ।महोत्सव के प्रथम दिवस में देवी जी ने भागवत कथा के महात्मय का वर्णन किया। अस्पताल के मीडिया प्रभारी राहुल तिवारी ने जानकारी देते  हुए  बताया कि 17 से 23 नवंबर तक चलने वाले इस कथा महोत्सव के मध्य में ही 22 नवंबर को गोपाष्टमी का महापर्व बड़े ही धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ मनाया जायेगा। गोपाष्टमी के दिन ही प्रथम बार भगवान श्री कृष्ण ने गौ चारण आरंभ किया था। जैसे राधाष्टमी पर बरसाना के मंदिरों में भव्य उत्सव मनाया जाता है ठीक वैसा ही गोपाष्टमी का पावन पर्व गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में भी धूम धाम से मनाया जाता है। क्योंकि गौसेवा धाम हाँस्पीटल में बीमार व असहाय गौवंश को आश्रय देकर उनका उपचार व उचित देखभाल की जाती है तथा यह हाँस्पीटल गौ माता की सेवा के लिये पूर्णतः समर्पित है।
हर वर्ष की भांति इस बार भी गोपाष्टमी के पर्व पर होने वाले गाै महाभोज में विशेष रूप से गौ माता की आरती तथा यहां भर्ती बीमार गौवशं के लिये मीठा दलिया, हरा चारा, गुड़ आदि का भंडारा अयोजित किया जायेगा। सम्पूर्ण कथा में कोरोना प्रोटोकोल का विशेष रूप से ध्यान रखा गया। सीमित मात्रा में श्रद्धालु उचित शारीरिक दूरी के साथ मास्क पहने हुये नजर आये।
ज्ञात रहे कि गौसेवा धाम हाँस्पीटल क्षेत्र में गौसेवा में अग्रणी भूमिका निभाता रहा है। यहाँ पर लाचार, अनाथ, असहाय तथा दुर्घटनाग्रस्त गौवंश के साथ अन्य जीव जंतु व पशु पक्षियों का का निःशुल्क उपचार किया जाता है।

เกมยิงปลา slot gacor เกมสล็อต slotonline ยิงปลา