मिश्रित कोतवाली क्षेत्र में मारपीट से घायल मजदूर की मौत लापरवाही का आरोप

सूर्य प्रकाश मिश्र
सीतापुर संदेश महल
मिश्रिख कोतवाली क्षेत्र में पिटाई से घायल हुए एक युवक की इलाज के दौरान मौत हो गई। मृतक के परिजनों पर कुछ लोगों पर पिटाई करने का आरोप लगाया है। जिसमें एक जनप्रतिनिधि का भाई भी शामिल होना बताया जा रहा है। हालांकि मामले में पुलिस भी लापरवाही करती हुई नजर आ रही है।
गांव रूपपुर ग्राम पंचायत रौसिंगपुर निवासी महताब (33) की 25 मई को मिश्रिख के परसौली चौराहे पर अंडा व्यवसायी से कहासुनी हो गई थी। सूचना देने पर उसके पुत्रों सहित कई लोग मौके पर आ गए थे।
दबंगों ने युवक को बुरी तरह से पीटकर अधमरा कर दिया था। फिर वह मौके से भाग गए थे। परिजनों ने उसका इलाज कराया। फिर वापस घर आ गए थे। बुधवार को पीड़ित की तबीयत बिगड़ी तो उसे बृहस्पतिवार को निजी अस्पताल लेकर पहुंचे जहां से उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।महताब मजदूरी करके अपने परिवार का भरण पोषण करता था। उस पर पांच बच्चों के साथ माता-पिता की जिम्मेदारी भी थी। बाकी भाई बाहर मजदूरी करके जीवन यापन कर रहे थे। लखनऊ से आए उसके भाई ने यूपी 112 पर सूचना दी।
उसने बताया कि मारपीट में घायल होने के कारण उसके भाई की मौत हो गई। यूपी 112 नंबर पर तैनात सिपाही ने मिश्रिख इंस्पेक्टर को सूचना दी। परिजनों का आरोप है कि चौकी इंचार्ज अरविंद शुक्ला ने एक सादे कागज पर बोल-बोलकर कुछ लिखवाकर कहा कि शव पोस्टमार्टम के लिए भेजना है। बाकी तहरीर बाद में देना है, जिससे परिजनों में कार्यवाही उचित न होने की शंका बनी है।इंस्पेक्टर शैलेंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि उनको मामले की जानकारी मिली थी। इससे पहले विवाद की जानकारी उनको नहीं हुई। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। परिजनाें ने लिखित रूप से तहरीर नहीं दी है।

เกมยิงปลา slot gacor เกมสล็อต slotonline ยิงปลา