दोहरे हत्याकाण्ड में पुलिस ने किया खुलासा मौत की साज़िश में निकला बेटा

मैनपुरी से संदेश महल ब्यूरो रिपोर्ट प्रवीन कुमार के साथ

जिन हाथों की उंगलियों को पकड़ कर चलना सीखा बचपन से जवान हुए किंतु ज़मीन ने रच डाली मौत की साज़िश मामला दन्नाहार के गांव नेकापुर में प्रॉपर्टी के विवाद में हुए दोहरे हत्याकांड के आरोपी रवि पाल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। एसपी ने खुलासा करते हुए बताया कि हत्या भले ही रवि ने की हो लेकिन साजिश में माता पिता, बहनें व कई अन्य लोग शामिल हैं। सोमवार को मुख्य आरोपी सहित छह लोगों को जेल भेजा गया।
गांव नेकापुर में 19 अगस्त की शाम मोहल्ला खरगजीत नगर निवासी रवि पाल पुत्र राजेश ने अपनी बुआ, दादा और दादी को गोली मार दी थी। बुआ सोनतारा और दादा सत्तराम की मौत हो गई थी। वहीं वृद्धा सूरजमुखी गंभीर रूप से घायल हो गईं थीं। दोहरे हत्याकांड के पीछे जमीन जायदाद को बुआ के नाम किए जाने का मामला सामने आया था। घायल वृद्धा ने नाती रवि पाल के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराई थी। रविवार देर रात प्रभारी निरीक्षक ओमहरि वाजपेई ने हत्यारोपी रवि पाल को गिरफ्तार कर लिया। मामले की तफ्तीश में पता चला कि हत्या रवि ने ही की है। लेकिन हत्याकांड को एक सोची समझी साजिश के तहत अंजाम दिया गया है। जांच में पता चला कि हत्याकांड में आरोपी का पिता राजेश, मां मंजू देवी, बहन संध्या, भावना भी शामिल हैं।
सोमवार को पुलिस लाइन में आयोजित प्रेसवार्ता में एसपी अजय कुमार पांडेय ने घटनाक्रम का खुलासा किया। बताया कि शहर के रघुराजपुरी स्थित घर सोनतारा के नाम किया जा चुका था। आरोपी के दादा सत्तराम अन्य जायदाद भी बेटी के नाम कर रहे थे। वहीं बैंक के खातों में भी वह सह खातेदार थी। इसी वजह से रवि गुस्से में था। उसने माता-पिता, बहनों के साथ मिलकर हत्या की साजिश रची। थाना एलाऊ के गांव शीशिया निवासी दोस्त मनोज और हाकिम के जरिए तमंचा व कारतूस एटा के रहने वाले एक व्यक्ति देवदत्त उर्फ बंटू से खरीदे थे। पकड़े गए रवि पाल, मां मंजू देवी, बहन संध्या, भावना, मनोज व हाकिम को जेल भेजा गया है। राजेश व इस साजिश में शामिल अन्य लोगों की पुलिस तलाश कर रही है।
चारपाई पर लेटी मोबाइल देख रही थी सोनतारा
एसपी ने बताया कि रवि काफी समय से मौके की तलाश कर रहा था। हत्या से पूर्व तीन चार दिनों से वह नेकापुर में ही रह रहा था। 19 अगस्त की शाम सोनतारा चारपाई पर लेटी मोबाइल देख रही थी। तभी रवि ने पीछे से सिर पर तमंचा रख कर गोली चला दी। जिससे सोनतारा की मौके पर ही मौत हो गई। आवाज सुनकर जब दादा ने आवाज की वजह पूछी। तो रवि ने उन पर भी गोली चला दी। दादी के पूछने पर उसने कहा कि कहीं पटाखे चल रहे हैं। जैसी ही दादी ने दूसरी ओर देखा उन पर भी फायर कर दिया। लेकिन गोली सिर को छूती हुई निकल गई। चार फायर करने के बाद रवि वहां से बाइक लेकर भाग निकला। वह सीधे शहर स्थित आवास पर आया और वहां कपड़े मोबाइल आदि रखने के बाद औरेया भाग गया था।
एसपी ने बताया कि उक्त घटना के बाद रवि की गिरफ्तारी पर 25 हजार का इनाम घोषित किया गया था। उसकी गिरफ्तारी के बाद उक्त इनाम पकड़ने वाली टीम को दिया गया है।

เกมยิงปลา slot gacor เกมสล็อต slotonline ยิงปลา