छाता कस्बे में धड़ल्ले से चल रहा है,सफेद दूध का काला कारोबार

रिपोर्ट
प्रताप सिंह
मथुरा संदेश महल समाचार

जिस दूध को आप और हम रोजमर्रा की जिंदगी में उपयोग में लाते है। क्या कभी हमने उसके बारे में यह सोचा है। कि यह दूध आ कहां से रहा है। बस हम सिर्फ इतना जानते है। कि यह दूध हमारा दूध वाला प्रतिदिन सुबह-शाम हमें दे जाता है। परंतु जब आप इसके पीछे की वजह और कारण जानेंगे तो आपकी आंखें खुली रह जाएंगी और हो सकता है कि आप दूध पीने से भी कतराएं।
जी हां ऐसा ही मामला छाता कस्बे में सामने आया है। जहां धड़ल्ले से सिंथेटिक दूध की बिक्री हो रही है। और इस सफेद दूध के काले कारोबार में डेरी स्वामियों, परचून विक्रेताओं तथा दूधिया लोगों की जुगलबंदी आम जनता को दूध के नाम पर जहर परोस रही है। बहुत दिनों से हमारी टीम को इस काले कारनामे की खबर मिल रही थी पर जब हमने विगत दिवस पड़ताल की, तो पाया सफेद दूध के काले कारोबार में स्थानीय खाद्य विभाग की मिलीभगत से सफेदपोश बड़ी गहराई तक लगे हुए हैं। यह लोग दूध बनाने के लिए अलग-अलग तरह के साधन तथा संसाधनों का अनुचित प्रयोग कर उसे अंजाम पहुंचाते हैं। हमारी पड़ताल में सामने आया कि भोले बाबा मिल्क फूड कंपनी धौलपुर की यूनिट से बना हुआ दूध पाउडर जिसके एक बोरे का वजन 50 किलो है। उसे खुलेआम पौने 300 रुपये किलो के हिसाब से बेचा जा रहा है। जिसमें से 1 किलो दूध पाउडर से करीब 7 से 8 किलो दूध बनकर तैयार होता है। और वही दूध आपके और हमारे घरों तक पहुंचाया जा रहा है। जिनके ना कोई मानक है। और ना ही उनकी कोई गुणवत्ता है। और ना ही इन दोनों चीजों को कोई जांचने और परखने वाला है। जब हमने इस बारे में स्थानीय खाद्य विभाग के अधिकारियों से बातचीत की तो उन्होंने भी कैमरे के सामने ना आकर दूध की गुणवत्ता पर सही होने की अपनी मोहर लगा दी परंतु वह कैमरे पर आने से बचते रहे। परंतु जब हमने इस मामले की परतें उनके आगे खोली तो उन्होंने महज हमें जांच करके कार्यवाही किए जाने का भरोसा दिलाया। हमारी पड़ताल बस यहीं तक नहीं रुकी हम इस सफेद दूध के काले कारोबार को करने वाले उन दुकानदारों तक भी पहुंचे जो छाता कस्बे की मेन बाजार स्थित सब्जी मंडी चौराहे की आस पास अपनी दुकानों को संचालित करते है। और वहीं से यह दूध विक्रेताओं को इन दूध पाउडर के कट्टो की खुलेआम बिक्री किया करते हैं। इस दौरान हमें सबसे बड़ी चौंकाने वाली बात यह मिली यह दुकानदार टैक्स चोरी करते हुए इन कट्टों को बिना बिल देकर बिक्री कर रहे हैं। सौरव जनरल स्टोर नाम के यह दुकानदार फुटकर दूध विक्रेताओं को इस दूध पाउडर की बिक्री धड़ल्ले से करते देखे जा सकते हैं। वहीं बड़ी बात यह है। कि आने वाले दिनों में शादियों का सीजन शुरू होने वाला है। और इन आयोजनों में इस सिंथेटिक दूध की धड़ल्ले से सप्लाई की जाएगी अगर समय रहते इन पर अंकुश नहीं लगाया गया आने वाले भविष्य में इस दूध का सेवन करने वाले अनजान लोगों को भारी खतरे का तथा गंभीर बीमारियों का सामना करना पड़ेगा।
error: Content is protected !!