त्रिकोणीय प्रेम-प्रसंग में अमिता की हत्या आरोपी गिरफ्तार

रिपोर्ट
राजेश प्रताप सिंह
बाराबंकी संदेश महल समाचार

अमिता हत्या काण्ड

उत्तर प्रदेश के जिला बाराबंकी थाना रामनगर क्षेत्र में युवती की हत्या का पुलिस ने खुलासा करने का दावा किया है। पुलिस का दावा है कि युवती की हत्या के पीछे त्रिकोणीय प्रेम-प्रसंग का मामला सामने आया है। पुलिस ने इस मामले में एक युवक व युवती और युवती के पिता को गिरफ्तार कर उनके पास से हत्या में प्रयुक्त बांका भी बरामद किया है। तीनों आरोपियों को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया जहां से सभी जेल भेज दिया गया।
एसपी डॉ. अरविंद चतुर्वेदी ने सोमवार को पुलिस लाइन सभागार में पत्रकार वार्ता के दौरान बताया कि थाना क्षेत्र रामनगर अंतर्गत ग्राम मीरपुर निवासिनी अमिता पुत्री शिवकुमार प्रजापति की हत्या का पुलिस ने खुलासा किया है। पुलिस ने इस मामले में आरोपी अतीक पुत्र अजीज राईन निवासी ग्राम मीरपुर, वंदना पुत्री गौरीशंकर निवासी ग्राम मीरपुर व वंदना के पिता गौरीशंकर पुत्र पुत्तूलाल को पकड़ा है। पुलिस ने आरोपियों के पास से हत्या में प्रयुक्त साइकिल, बांका व आरोपी अतीक एवं वंदना के खून लगे कपड़े बरामद किये हैं।
एसपी ने बताया कि पूछताछ करने पर पता चला कि आरोपी अतीक तथा इसी गांव की वंदना पुत्री गौरीशंकर के बीच चार वर्षों से प्रेम संबंध था। इसी बीच अतीक का संबंध करीब डेढ़ वर्षों से अमिता (मृतका) से भी हो गया। वंदना को इस बात की जानकारी करीब छह माह पूर्व हुई तो उसके और अमिता के बीच इस बात को लेकर कहासुनी हो गई। इसके बाद भी अतीक वंदना व अमिता, दोनों से बात करता रहा।
वंदना को पता चला कि अमिता व अतीक भाग कर शादी करने वाले हैं, इस पर उसने अतीक को बुलाया और कहा कि अगर तुमने अमिता से शादी की तो मैं तुम्हारे खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा लिखा दूंगी। अतीक ने कहा कि ऐसा न करो मैं अमिता से कोई संबंध नहीं रखूंगा लेकिन उसे रास्ते से हटाना पड़ेगा। अतीक लखनऊ में वेल्डिंग का काम करता है।
इस बीच 27 नवंबर को अतीक ने अमिता को फोन किया और कहा कि तुम किसी बहाने वंदना के घर आ जाओ, मैं भी वहीं आ रहा हूं, फिर हम दोनों वहीं से कहीं भाग चलेंगे। यह बात तुम वंदना से मत बताना। इसके बाद अतीक ने वंदना को भी फोन किया और कहा कि तुम भी अमिता के पास फोन करो और उसे अपने घर पर बुला लो। वंदना ने भी अमिता को फोन कर अपने घर पर बुलाया।
अमिता अपने घर से नींबू लेने के बहाने निकली और वंदना के घर पहुंच गई। अतीक भी लखनऊ से वहीं आया हुआ था। अमिता के पहुंचने पर तीनों बात करने लगे। इतने में अतीक ने पूर्व नियोजित तरीके से अमिता को पटक दिया, वंदना ने अमिता का सिर पकड़कर दबाया तथा अतीक ने उसकी गर्दन पर बांका से वार कर दिया।
इसके बाद अमिता के शव को दोनों ने मिलकर धान के पुआल में छिपा दिया और फिर दोनों ने अपने खून से सने कपड़े आंगन में गाड़ दिए, बांका घर के अंदर बक्से के नीचे छिपा दिया। इसके बाद अतीक वहां से चला गया। कुछ देर बाद वंदना के पिता गौरीशंकर जब खेत से आए तो वंदना ने रोते हुए पूरी बात बताई, इस पर गौरीशंकर ने वंदना को डांटा-फटकारा और रात में करीब 10.30 बजे अमिता के शव को प्लास्टिक के बोरे में भरकर साइकिल पर बांधा और ले जाकर गौराचक तालाब के पास सड़क किनारे खेत में फेंक दिया।
एसपी ने बताया कि मामले का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को 25 हजार का पुरस्कार आईजी अयोध्या द्वारा दिया गया है।

scobet999 bewin999 scobet999 เกมยิงปลา slot gacor เกมสล็อต slotonline https://www.prevestdenpro.com/wp-content/product/ ยิงปลา bewin999 scatter hitam http://157.245.71.105/ https://bewin999-nolimit.tumblr.com/ https://bewin999-nolimit.tumblr.com/ https://bewin999-nolimit.tumblr.com/ https://bewin999-scatterhitam.tumblr.com/ slot gacor pgslot