विद्युत स्पर्शाघात से युवक की मौत मौके पर पहुंचे सदर विधायक

रिपोर्ट
शुशील कुमार
मैनपुरी संदेश महल समाचार

जनपद मैनपुरी के थाना औंछा क्षेत्र के ग्राम बल्लमपुर निवासी एक युवक रविवार की शाम को गाँव के पास ही अपने ही खेत में खड़ी बाजरे की फसल में पानी लगा रहा था। तभी अचानक जमीन के बेहद करीब झूल रहे हाईटेंशन लाइन की चपेट में आ गया। जिससे युवक धू – धूकर जलने लगा और मौके पर ही दर्द्नांक मौत हो गयी।

विलखते परिजन

बताते चलें कि पूरा मामला जनपद मैनपुरी के थाना औंछा क्षेत्र के ग्राम बल्लमपुर का है। जहां का निवासी युवक गोविंद पुत्र सुरेशचन्द्र अपने खेत में खड़ी बाजरा की फसल में रविवार की शाम सात बजे पानी लगा रहा था। तभी जमीन के बेहद करीब हाईटेंशन लाइन के तारों की चपेट में आ गया। जिससे युवक की मौके पर ही दर्दनांक मौत हो गयी। सूचना पर थाना पुलिस भी मौके पर पहुँच गयी। ग्रामीणों में काफी रोष व गुस्सा देख पुलिस भी मौके से लौट आई। ग्रामीणों का आरोप है कि म्रतक युवक ने काफी बार विधुत सब स्टेशन औंछा पर तैनात अवर अभियंता नारायण सिंह को काफी बार लिखित व मौखिक रूप से शिकायत की गयी थी। कि उसके खेत के ऊपर से 11000 की लाइन जो गुजर रही है वो जमीन से काफी नीचे है और उसके तीर भी काफी जर्जर अवस्था में है। लेकिन अवर अभियंता नारायण सिंह ने लाइन को दुरुस्त कराने के बदले में पाँच हज़ार रुपयों की मांग की गईओ। अवर अभियंता पर आरोप लगाते हुये एक ग्रामीण ने बताया कि हमारे सामने अवर अभियंता नारायण सिंह ने 5000 रुपयों की मांग की थी। वहीं ग्रामीणों ने इसी बात को लेकर काफी हंगामा काटा और शव को नहीं उठाने दिया। वहीं सूचना पर पहुंचे क्षेत्राधिकारी डी पी गौड़, उपजिलाधिकारी अनूप कुमार, तहसीलदार अरुण कुमार ने भी ग्रामीणों को काफी समझाया लेकिन नतीजा शून्य रहा। आखिर में सूचना पर पहुंचे सदर विधायक राजकुमार यादव ने म्रतक के परिजनों व ग्रामीणों को काफी समझाया कि विधुत विभाग व शासन की तरफ से उचित मुआबजा दिलाने के लिए पुरजोर कोशिश की जाएगी और हर संभव मदद का भरोसा दिलाया। तब जाकर शव का पोस्टमार्टम कराने के लिए परिजन तैयार हुये।

क्या कहते है उपखंड अधिकारी कुरावली।

विधुत विभाग के उपखंड अधिकारी से बात करने पर बताया गया कि शाम 7 बजे औंछा फीडर पर तैनात संविदाकर्मी लाइनमैन के फोन पर किसी अंजान नंबर से फोन आया था। जिस पर लाइनमैन को घटना के बारे में अवगत कराया तो संविदाकर्मी ने तत्काल विधुत आपूर्ति को बंद कराकर अवर अभियंता को सूचित किया गया। अवर अभियंता द्वारा मुझे सूचना दी गईं। वहीं जब ग्रामीणों द्वारा लगाए गए आरोप के बारे में बात की गयी तो ग्रामीणों के आरोप को बेबुनियाद बताया। वहीं जब उपखंड अधिकारी संजीव कुमार से ज्यादा पूंछतांछ की गयी तो कहा गया कि जांच कराई जाएगी। जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कार्यवाही अमल में लायी जाएगी।

error: Content is protected !!