………. जीने के लिए सिर्फ पांच लाख?

रिपोर्ट
पंकज शाक्य
संदेश महल समाचार

मेरी बेटी को उसके ससुराल वाले दहेज के लिए प्रताड़ित करते है।मारते पीटते हैं,हद तो तब हो गई जब बेटी को घर से निकाल दिया गया है। कितनी हसरत से दान दहेज देकर विदाई की थी किन्तु इन दहेज लोभियों ने सारी हदों को पार करते हुए बेटी विनीता को शारीरिक, मानसिक, आर्थिक, रुप से प्रताणित करने लगे और बचाव पक्ष का एक ही रास्ता सुलझाया जिंदगी के लिए सिर्फ पांच लाख?
बताते चलें कि पूरा मामला थाना कुरावली क्षेत्र के ग्राम नगला ऊसर का है। जहां के निवासी राकेश सिंह पुत्र स्वर्गीय पुत्तूलाल ने बताया कि उसने अपनी पुत्री की शादी 20 अप्रैल 2018 में मोहल्ला संतनगर थाना दक्षिणी जिला फ़िरोजाबाद निवासी अरविंद पुत्र स्वर्गीय नारायण के साथ की थी। जिसमें राकेश सिंह ने बताया कि लड़की की शादी में एक बुलेट मोटरसाइकिल, एक लर, एक अंगूठी सोने की व 1.5 लाख का घरेलू सामान और एक लाख रुपया नगद दिया था। शादी हसी खुशी के साथ हुई लेकिन शादी के छः माह बाद पति अरविंद 5 लाख रुपये के मांग करने लगा। जब इन रुपयों को देने में असमर्थता जताई तो मेरी लड़की का पति अरविंद, ज्येष्ट रामानन्द, पारस, देवर सीताराम व सास चन्द्रवती मेरी लड़की को मानसिक व शारीरिक रूप से प्रताड़ित करने लगे। हद तो तब हो गयी जब 28/08/2020 को सुबह 7 बजे मेरी लड़की विनीता ने मुझे फोन कर बताया कि मुझे मेरे पति, दोनों ज्येष्ट, देवर व सास ने मारपीट कर घर से बाहर निकाल दिया है और मुझे जान से मारने की कोशिश की गयी। जब राकेश लड़की विनीता की ससुराल पहुंचा तो विनीता घर के बाहर बैठी रो रही थी। जब राकेश ने लड़की के पति व इसके घर वालों से बात करने की कोशिश की तो उसके ससुराल वालों ने एक राय होकर जानलेवा हमला बोल दिया। जिसपर राकेश सिंह अपनी जान बचाकर अपने घर नगला ऊसर भाग आया। राकेश सिंह ने थाना कुरावली में अपनी लड़की विनीता को लेकर तहरीर दी है। जिसपर थाना पुलिस ने विनीता का मेडीकल कराकर घर भेज दिया। वहीं पुलिस इस मामले की जांच करने में जुट गयी है।

error: Content is protected !!