थानेदार की आशिकी में गयी थानेदारी

रिपोर्ट
जेपी रावत
विहार अरारिया संदेश महल समाचार

थाना सिमराहा में श्रुति कुमारी ने फांसी के फंदे से लटक कर जीवन लीला समाप्त कर ली। मोहब्बत में हुई मौत के मामले में एक थानेदार को ही आरोपी बनाया गया हैं। पुलिस अधीक्षक ने आरोपी थानेदार को निलंबित करते हुए करते हुए गिरफ्तारी का आदेश दिया है।बताते चलें कि श्रुति के मौत मामले में उसके श्रुति के पति कुमार गौरव ने थानेदार पर संगीन आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई है। मृतका के पति कुमार गौरव ने थानेदार पर आरोप लगाया है कि श्रुति को साथ रखने का प्रलोभन देने के बाद वो अपने बच्चों का हवाला देकर आरोपी थानेदार वादे से मुकर गया था।जिसकी वजह से श्रुति काफी दिनों से मानसिक रूप से परेशान रहती थी। और वह फांसी के फंदे पर लटककर जान दे दी।ज्ञात हो कि थाना सिमराहा से महज सौ मीटर की दूरी पर किराए के मकान में महिला कांस्टेबल श्रुति रहतीं थीं। जिसने अपने कमरे में ही फांसी के फंदे से लटककर आत्म हत्या कर ली। मृतका श्रुति 2018 बैच कांस्टेबल थी।जो सिमराहा थाना में तैनात थी। बताया जा रहा हैं की मृतका महिला पुलिस पहले अरारिया थाने में तैनात थी, जहां का थानेदार किंग कुंदन था।बाद में श्रुति सिमराहा थाना चली गई और किंग कुंदन का तबादला नरपतगंज हो गया लेकिन दोनों के बीच संबंधों की शुरुआत अरारिया से ही हुई थी।बात इतनी बढ़ चुकी थी कि श्रुति ने अपने पति कुमार गौरव को यह कह दिया था कि वो अब किंग कुंदन के साथ ही रहेगी। किंतु थानेदार किंग कुंदन श्रुति को साथ रखने का प्रलोभन देने के बाद वो अपने बच्चों का हवाला देकर आरोपी थानेदार वादे से मुकर गया था।जिसकी वजह से श्रुति काफी दिनों से मानसिक रूप से परेशान रहती थी। मृतका श्रुति शादीशुदा थी और किराए के मकान में रहती थी, जहां उसके पति का भी आना-जाना लगा रहता था। बताया जाता है कि श्रुति ने कुमार गौरव से चार साल पहले घरवालों की मर्जी के खिलाफ प्रेम विवाह किया था। कुमार गौरव कोचिंग इंस्टीट्यूट में पढ़ाता था, जबकि श्रुति उस समय बिहार पुलिस में भर्ती के लिए तैयारी कर रही थी।दोनों मुंगेर के रहने वाले थे।आरोपी थानेदार किंग कुंदन को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही गिरफ्तारी का आदेश दिया गया है। थानेदार गिरफ्तारी के डर से जिले से फरार हो गया है, जिसकी तलाश जारी है।बताया जाता है कि जैसे ही थानेदार किंग कुंदन को अरारिया से निलंबित होने और गिरफ्तारी के आदेश की जानकारी मिली तो वह अपनी गाड़ी छोड़कर किसी सहयोगी के वाहन से जिले से फरार हो गया।

error: Content is protected !!