ऑनर किलिंग भाई ने गला दबाकर की थी अक्सा की हत्या

रिपोर्ट
कार्यालय
मुरादाबाद संदेश महल समाचार

नागफनी पुलिस ने अक्सा हत्याकांड का खुलासा कर दिया। पुलिस ने दावा है कि ऑनर किलिंग की खातिर भाई ने ही गला दबाकर अक्सा की हत्या की थी। पुलिस पूछताछ ने हत्यारोपी ने बताया कि अक्सा पहले भी कई बार अपने पति को छोड़कर अपने प्रेमी के साथ जा चुकी थी। जिससे मोहल्ले में उनकी बहुत बदनामी हुई थी। घटना वाले दिन भी वह फिर से भागने की फिराक में थी। भाई को इसकी भनक लगी तो उसने गला दबाकर उसे मौत के घाट उतार दिया था।
सहायक पुलिस अधीक्षक अनिल यादव ने पुलिस लाइन में प्रेस वार्ता कर हत्याकांड का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि छह नवंबर 2020 को सिविल लाइंस के चक्कर की मिलक निवासी इरफान ने नागफनी थाने में तहरीर दी थी। इरफान बताया कि उसकी पत्नी अक्सा अपने दो साल के बेटे जैद को साथ लेकर नागफनी के किसरौल दीवान खाना में अपने मायके में रह रही थी। 13 अक्तूबर को उसकी मौत हो गई थी। उसने शक जताया था कि उसकी पत्नी की हत्या की गई है। इसके बाद पुलिस ने मजिस्ट्रेट से अनुमति देकर कब्र से शव निकलवा कर पोस्टमार्टम कराया। पीएम रिपोर्ट में गला दबाकर हत्या किए जाने की पुष्टि हुई। इस मामले में पुलिस ने अक्सा के भाई तारिक के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया और सोमवार सुबह आरोपी तारिक को गिरफ्तार कर लिया।
पुलिस के मुताबिक आरोपी ने पूछताछ में बताया कि उसकी बहन अक्सा अपने पति को छोड़कर कई बार प्रेमी के साथ भाग चुकी थी। जिससे उनकी मोहल्ले में बहुत बदनामी हुई थी। 13 अक्तूबर को परिवार के सभी लोग रिश्तेदारी में मंगनी कार्यक्रम में शामिल होने गए थे। तब अक्सा ने फिर से भागने की योजना बनाई। इसी दौरान अचानक भाई तारिक घर पहुंच गया था और उसने अक्सा को एक बैग में कपड़े रखते हुए देख लिया था। पूछताछ करने पर अक्सा ने कुछ नहीं बताया। इससे नाराज होकर सारिक ने गला दबाकर अक्सा की हत्या कर दी थी। परिवार के लोग घर पहुंचे और उन्होंने हत्या की घटना को दबाने के लिए मोहल्ले वालों से बताया कि हार्ट अटैक से अक्सा की मौत हुई है। जबकि अक्सा के पति इरफान को बताया कि अक्सा ने आत्महत्या कर ली है। एएसपी ने बताया कि अभी इस मामले में आरोपी भाई की गिरफ्तारी की गई है। अगर तफ्तीश के दौरान अन्य लोगों की भूमिका सामने आएगी तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। पुलिस ने सोमवार दोपहर बाद आरोपी को अदालत में पेश किया, जहां से न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

 

error: Content is protected !!