गिरफ्तारी के दौरान सपा कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री योगी का फूंका पुतला

रिपोर्ट
प्रताप सिंह
मथुरा संदेश महल समाचार

बीते 10 दिनों से चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन देशव्यापी भारत बंद की घोषणा को लेकर मंगलवार को पूर्व निर्धारित सभा में भाग लेने जाते समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष लोकमणिकांत जादौन को स्थानीय प्रशासन ने उनके आवास पर ही नजरबंद कर लिया।

जैसे ही समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं को सपा जिलाध्यक्ष को प्रशासन द्वारा नजरबंद किए जाने की सूचना मिली तो कार्यकर्ता धीरे धीरे सपा जिलाध्यक्ष के छाता स्थित आवास पर एकत्रित होने लगे। वहीं प्रशासन भी पूरी मुस्तैदी के साथ सपा जिलाध्यक्ष के आवास की घेराबंदी करने में जुट गया।

एसपी ट्रैफिक कमल किशोर के नेतृत्व में पहुंचे पुलिस क्षेत्राधिकारी छाता जगदीश कालीरमन, प्रभारी कोतवाली रवि त्यागी पुलिस बल को लेकर पहुंचे और सपा कार्यकर्ताओं को मांट जाने से रोक दिया। वहीं सपा जिलाध्यक्ष के आवास पर उप जिलाधिकारी छाता हनुमान प्रसाद मौर्य, तहसीलदार छाता विवेकशील यादव तथा खंड विकास अधिकारी सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी भी पहुंच गएऔर उन्होंने सपा जिलाध्यक्ष लोकमणि कांत जादौन को शांति व्यवस्था को कायम रखने के उद्देश्य से गिरफ्तार किए जाने की जानकारी दी। इस दौरान एसपी ट्रैफिक ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि शांति व्यवस्था को कायम रखने के उद्देश्य से सपा जिलाध्यक्ष की कार्यकर्ताओं के साथ उनके घर से गिरफ्तारी की गई है।

इसी दौरान सपा जिलाध्यक्ष को घर से गिरफ्तार करने के पर सपा कार्यकर्ताओं ने प्रदेश तथा केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। वहीं अचानक समाजवादी पार्टी महिला सभा की जिलाध्यक्ष डॉक्टर साधना शर्मा ने महिला कार्यकर्ताओं के साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पुतला भी दहन किया गया जिसको लेकर सपा कार्यकर्ताओं पुलिस में छीना झपटी हुई। इस दौरान पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा।पुलिस पकड़े हुए सपा कार्यकर्ताओं को थाना छाता ले आई जहां वह आगामी कानूनी प्रक्रिया को पूरा कराने में जुट गई। वहीं पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद सपा जिलाध्यक्ष लोकमणि कांत जादौन ने इसे लोकतंत्र की हत्या बताया साथ ही कारण किसानों के समर्थन में उठने वाली आवाज को दबाए जाने को भी उन्होंने निंदनीय करार दिया।

เกมยิงปลา slot gacor เกมสล็อต slotonline ยิงปลา